Asotra Brahma Temple विश्व का दूसरा ब्रह्मा मंदिर।

Spread the love

अभी तक अपने सुना होगा कि विश्व में ब्रह्मा जी का एकमात्र मंदिर है जो कि पुष्कर में स्थित हैं लेकिन ऐसा नहीं हैं। Asotra Brahma Temple विश्व में दूसरा ब्रह्मा जी मंदिर भी राजस्थान के बाड़मेर जिले में स्थित हैं।

Asotra Brahma Temple / आसोतरा मंदिर-

आसोतरा, स्वर्गीय ब्रह्मऋषि संत खेताराम जी महाराज द्वारा निर्मित दुनिया का दूसरा ब्रह्मा मंदिर हैं।

विश्व का सबसे बड़ा और पहला मंदिर पुष्कर में बना हुआ हैं। यहाँ पर दुनिया भर के लाखों लोग दर्शन के लिए आते हैं साथ ही ऐसा कहा जाता हैं कि विश्व में एक मात्र ब्रह्मा मंदिर पुष्कर में हैं लेकिन यह सही नहीं हैं।

भगवन ब्रह्मा जी का दूसरा मंदिर राजस्थान के बाड़मेर जिले में (Asotra Brahma Temple) स्थित हैं।

मंदिर और स्थान का परीचय, ( brahma temple)-

आसोतर राजस्थान के बाड़मेर में स्थित एक गांव है। यह बालोतरा से मात्र 10 किलोमीटर की दूरी पर है।

Asotra Brahma Temple विश्व में प्रथम ब्रह्मस्वमित्री मंदिर हैं। जैसलमेर के प्रसिद्ध पीले पत्थरों से इसके मुख्य दरवाजे का निर्माण किया गया हैजो कि देखने में बहुत ही आकर्षक और सुन्दर हैं।

साथ ही यह बहुत अच्छी कलाकारी के साथ बना हुआ हैं। मंदिर का बाकी हिस्सा जोधपुर स्टोन से बना हुआ हैं।

 मंदिर के भीतर भगवन ब्रह्मा जी की बहुत ही सुन्दर और दिव्य मूर्ति हैं। यह मूर्ति संगमरमर की बनी हुई हैं।

इस मंदिर की नीव 20 अप्रैल 1961 को राखी गई थी 6 मई 1984 को ब्रह्मा का राज्याभिषेक किया गया। इस मंदिर को बनने में लगभग 23 वर्षों का समय लगा था।

मंदिर की विशेषता –

Asotra Brahma Temple की विशेषता यह हैं की यहाँ पर प्रतिदिन पक्षियों को खिलाने के लिए 100 से लेकर 200 किलो तक अनाज डाला जाता हैं।

पक्षियों की मधुर आवाज के साथ साथ प्राकृतिक सौंदर्य इस जगह को बहुत सुन्दर बनाते हैं। श्रद्धालुओं के ठहरने की भी उत्तम व्यवस्था यहाँ पर हैं। यहाँ लगभग 102 कमरे भी बने हुए हैं।

राजस्थान में चित्तौडग़ढ़ किले पर भी ब्रह्मा जी का बहुत प्राचीन मंदिर मौजूद हैं। हालांकी यह मंदिर ज्यादा बड़ा नहीं हैं लेकिन फिर भी यह कलाकारी का नायाब नमूना हैं।

यह भी पढ़ें :-

रानी की बावड़ी का रहस्य और रोचक जानकारी

मार्तंड सूर्य मंदिर, कश्मीर का इतिहास।


Spread the love

4 thoughts on “Asotra Brahma Temple विश्व का दूसरा ब्रह्मा मंदिर।”

  1. Pingback: Dibbi Lingeshwar Swami Mandir एक रहस्य। - हिस्ट्री IN हिंदी

  2. Pingback: Nilkanth varni नीलकंठ वर्णी (स्वामीनारायण) का इतिहास व कहानी। - हिस्ट्री IN हिंदी

  3. Pingback: "केरल में खून की बरसात"(Khoon Ki barish) का 1 अनसुलझा रहस्य। - History in Hindi

  4. Pingback: मार्तंड सूर्य मंदिर का इतिहास (Martand Surya Mandir History In Hindi). - History in Hindi

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *