बाड़ीघाटी का युद्ध या बाड़ी युद्ध (Badighati or Badi yudh Dhaulpur)- महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी की भिड़ंत।

Spread the love

बाड़ीघाटी का युद्ध या बाड़ी का युद्ध (Badi yudh Dhaulpur) महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी के मध्य 1517 ईस्वी में धौलपुर में लड़ा गया। बाड़ी युद्ध प्रतिष्ठा के लिए लड़ा गया युद्ध था।
इस लेख में हम पढ़ेंगे कि BadiGhati or Badi yudh Dhaulpur क्यों लड़ा गया और किसको विजय हासिल हुई।

Badi yudh dhaulpur history in hindi,बाड़ी घाटी का युद्ध या बाड़ी युद्ध का इतिहास
Badi yudh, dhaulpur.

बाड़ी घाटी का युद्ध या बाड़ी युद्ध का इतिहास (Badi yudh dhaulpur history in hindi).

  • बाड़ी युद्ध (Badi yudh) कब हुआ- 1517 ईस्वी।
  • किसके मध्य हुआ- महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी के मध्य।
  • युद्ध का निर्णय- महाराणा सांगा की जीत।

सन 1509 ईसवी में मेवाड़ के महाराणा बनने के पश्चात महाराणा सांगा ने मेवाड़ की सीमाओं का विस्तार करने पर और अपने क्षेत्राधिकार को विस्तारित करने पर ध्यान दिया। इसके लिए सबसे पहले उन्होंने कई महत्वपूर्ण और पड़ोसी राजपूत राजाओं को एकत्रित किया।

जब इब्राहिम लोदी तक यह खबर पहुंची की महाराणा सांगा उसकी सीमा में घुस आया है तो वह घबरा गया और तुरंत महाराणा सांगा से युद्ध के लिए तैयार हो गया।
इब्राहिम लोदी, महाराणा सांगा को रोकने के लिए सन 1517 ईसवी में अपनी सेना के साथ मेवाड़ राज्य की तरफ कूच किया। महाराणा सांगा को युद्ध का पहले से ही अंदेशा हो गया था इसलिए वह अपनी सेना के साथ युद्ध करने के लिए तैयार थे।

महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी के मध्य युद्ध सबसे पहले खातोली नामक स्थान पर हुआ जिसमें महाराणा सांगा ने इब्राहिम लोदी को बुरी तरह पराजित कर दिया। लगातार बदले की आग में जल रहा इब्राहिम लोदी ने अपनी सेना को संगठित करना शुरू कर दिया। इस बार युद्ध में इब्राहिम लोदी स्वयं ना जाकर अपने सेनापति मियां माखन को महाराणा सांगा से लोहा लेने के लिए भेजा।

इब्राहिम लोदी और महाराणा सांगा की सेना के बीच बाड़ी नामक स्थान पर चौकी पहाड़ी क्षेत्र है एक जोरदार लड़ाई लड़ी गई। बाड़ी का युद्ध महाराणा सांगा ने जीत लिया।

खातोली का युद्ध कब और किसके बिच हुआ था ? पढ़ें पूरी कहानी और परिणाम।

बाड़ी का युद्ध क्यों लड़ा गया Why was the battle of Badi fought?

इसे बाड़ी धौलपुर का युद्ध (badi yudh) के नाम से भी जाना जाता हैं। महाराणा सांगा मेवाड़ की सीमाओं में विस्तार करना चाहते थे, जबकि दिल्ली के शासक इब्राहिम लोदी को अंदेशा था कि धीरे-धीरे कहीं उसके साम्राज्य को नष्ट नहीं कर लिया जाए। इब्राहिम लोदी और महाराणा सांगा अपने राज्य के विस्तार और सीमाओं की सुरक्षा के लिए आपस में भिड़ गए।

बाड़ी का युद्ध किसने जीता? (who won badi yudh)

जैसा कि आपने ऊपर पड़ा बाड़ी का युद्ध (badi yudh) महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी की सेनाओं के बीच में लड़ा गया था जिसमें महाराणा सांगा ने इब्राहिम लोदी की सेना को बुरी तरह पराजित कर दिया और ना सिर्फ राजस्थान में बल्कि पूरे भारत में अपना लोहा मनवाया।

बाड़ी के युद्ध (badi yudh) के अलावा भी महाराणा सांगा ने कई और युद्ध लड़े जिनमें खातोली का युद्ध, बयाना का युद्ध और खानवा का युद्ध इतिहास में प्रसिद्ध है।

यह भी पढ़ें-

  1. हाराजा मेदिनी राय का इतिहास।

2. महाराणा सांगा का परिवार।

3. महाराणा सांगा को एक सैनिक का भग्नावशेष क्यों कहा जाता है?


Spread the love

3 thoughts on “बाड़ीघाटी का युद्ध या बाड़ी युद्ध (Badighati or Badi yudh Dhaulpur)- महाराणा सांगा और इब्राहिम लोदी की भिड़ंत।”

  1. Pingback: खातोली का युद्ध कब (Khatoli ka yudh) और किसके मध्य हुआ- पढ़ें पूरा इतिहास। - History in Hindi

  2. Pingback: बयाना का युद्ध (bayana ka yudh)- महाराणा सांगा और बाबर का युद्ध. - History in Hindi

  3. Pingback: राणा सांगा की मृत्यु कैसे हुई? (Maharana Sanga ki Mrityu Kaise Hui) पढ़ें, इसके पिछे की सच्ची कहानी। - History in Hindi

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *