छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती 2023.

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती (Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti 2023)-

छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म 19 फरवरी 1630 में हुआ था. प्रतिवर्ष 19 फरवरी को छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती मनाई जाती हैं. वर्ष 2023 में 19 फरवरी रविवार के दिन छत्रपति शिवाजी महाराज की 393 वीं जयंती मनाई जाएगी.

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती (Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti) की कहानी

मराठा साम्राज्य में वर्ष 1630 ईस्वी में 19 फरवरी के दिन शिवनेरी किले में महान मराठा शासक और हिन्दू ह्रदय सम्राट शिवाजी महाराज का जन्म हुआ था. शिवाजी का असली नाम शिवाजी राजे भोंसले था. वर्ष 1674 ईस्वी में मराठा साम्राज्य का शासक बनने के बाद इन्हें छत्रपति शिवाजी महाराज के नाम से जाना जाने लगा.

छत्रपति एक उपाधि हैं. छत्रपति शिवाजी महाराज के जन्म दिवस को ही छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती के रूप में पूरे भारत में मनाया जाता हैं. महाराष्ट्र में शिवाजी जयंती का विशेष महत्व है.

इतिहास उठाकर देखा जाए तो शिवाजी महाराज ना तो कभी मुगलों के सामने झुके और ना ही अंग्रेजों के सामने झुके.

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती कहां मनाई जाती हैं?

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती (Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti) महाराष्ट्र में बहुत ही धूमधाम और पारंपरिक तरीके से मनाई जाती हैं. छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती के दिन महाराष्ट्र में सार्वजनिक अवकाश रहता हैं. जगह जगह कई प्रकार के सार्वजनिक कार्यक्रमों का आयोजन होता हैं.

छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती क्यों मनाई जाती हैं?

छत्रपति शिवाजी महाराज ने मराठा साम्राज्य को मजबूत करने के साथ साथ हिन्दू एकता की मिशाल पेश कि थी जिसके चलते भारत के लोगों के दिल में छत्रपति शिवाजी महाराज विशेष महत्व रखते हैं. और यही वजह है कि प्रतिवर्ष भारत में 19 फरवरी को छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती (Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti) मनाई जाती हैं.

यह भी पढ़ें-

छत्रपति शिवाजी महाराज की पत्नियां.

छत्रपति शिवाजी महाराज का इतिहास.

भगवान् महावीर जयंती

दोस्तों उम्मीद करते हैं “छत्रपति शिवाजी महाराज जयंती” (Chhatrapati Shivaji Maharaj Jayanti 2023) पर आधारित यह लेख आपको अच्छा लगा होगा, धन्यवाद.