चित्तौड़गढ़ का तलवार बाजार (Chittorgarh Sword Market).

Spread the love

चित्तौड़गढ़ का तलवार (Chittorgarh Sword Market) बाजार जिला मुख्यालय से लगभग 25 किलोमीटर दूर गंगरार नामक गांव में स्थित है यह प्राचीन गांव नेशनल हाईवे के दोनों तरफ बसा हुआ है। अगर आप तलवार, चाकू, छुरी, खुखरी या खंजर खरीदना चाहते हैं तो गंगरार तलवार मार्केट (gangrar talwar bajar) आप के लिए सबसे उपयुक्त हो सकता है। राजा महाराजाओं के नाम पर इन हथियारों को अलग-अलग नामों से जाना जाता है। जिनमें “जय माता तलवार”, जय भवानी तलवार और सम्राट अशोक तलवार नाम से कई तलवारे उपलब्ध हैं जो देखने में बहुत खूबसूरत और आकर्षक हैं।

Chittorgarh Sword Market
(Chittorgarh Sword Market)

चित्तौड़गढ़ का तलवार बाजार (Chittorgarh Sword Market)-

यह मार्केट बहुत प्राचीन है। इस तलवार बाजार में मौजूद तलवारों का मूल्य ₹400 से लेकर ₹5000 तक है। बनावट और वजन के अनुसार इनका मूल्य अलग-अलग है।

अगर यहां पर मौजूद तलवारों की लंबाई की बात की जाए तो ढाई फीट से लेकर 3 फीट तक है, इतना ही नहीं आपकी आवश्यकता के अनुसार तलवारें बनाई जाती है।

जय माता नामक तलवार जो कि कबानी की बनी होती है इसका मूल्य ₹1500 से ₹2500 तक हैं। तलवार की म्यान पर बहुत सुंदर कलाकारी देखने को मिलती है।
जिस पर महाराणा प्रताप का फोटो बना हुआ है। तलवारों का निर्माण स्टील, कबानी और अन्य धातुओं से किया जाता है। इतना ही नहीं अगर आप यहां से तलवार खरीदते हैं तो आपको 1 साल से लेकर 30 साल तक की गारंटी भी मिलती है।

तो दोस्तों “चित्तौड़गढ़ का तलवार बाजार”(Chittorgarh Sword Market) पर आधारित यह लेख आपको कैसा लगा, कमेंट करके आपकी राय दें। साथ ही दोस्तों के साथ शेयर करें, धन्यवाद।

यह भी पढ़ें-

छत्रपति शिवाजी महाराज की तलवार।

बप्पा रावल की तलवार का वजन?


Spread the love

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *