महाराणा प्रताप के पास कितने घोड़े थे?

क्या आप जानते हैं महाराणा प्रताप के पास कितने घोड़े थे?

महाराणा प्रताप के सबसे प्रिय घोड़े का नाम चेतक था. चेतक के बारें में करीब-करीब सब जानते हैं लेकिन चेतक के अलावा भी महाराणा प्रताप के पास 2 घोड़े और थे जिनके बारे में बहुत कम लोग जानते हैं, इस लेख को पढ़ने से पहले आप यह बता सकते हैं कि महाराणा प्रताप के पास कितने घोड़े थे? अगर नहीं तो इस लेख को अंत तक पढ़ें।

महाराणा प्रताप के पास कितने घोड़े थे?

महाराणा प्रताप के पास 3 घोड़े थे जो गुजरात के एक व्यापारी से ख़रीदे थे. महाराणा प्रताप के घोड़े के पीछे एक दिलचस्प कहानी छिपी हैं.

जैसा कि आप जानते हैं महाराणा प्रताप के सबसे प्रिय नीलवर्णी ईरानी घोड़े का नाम चेतक था. एक बार गुजरात का एक व्यापारी तीन काठियावाड़ी नस्ल के घोड़े लेकर मेवाड़ में आया. प्रताप ने इन तीनों घोड़ो को खरीद लिया और बदले में व्यापारी को जांगीर के तौर पर गढ़वाडा और भानोल नामक दो गाँव भेंट किए.

महाराणा प्रताप के घोड़ों का नाम

 दोस्तों आपने ऊपर पढ़ा कि महाराणा प्रताप के पास 3 घोड़े थे. महाराणा प्रताप के घोड़ों का नाम निम्नलिखित हैं-

[1] चेतक.

[2] त्राटक.

[3] अटक.

गुजराती व्यापारी से ख़रीदे गए घोड़ों में से अटक नामक घोड़े को परिक्षण के लिए रखा गया था और त्राटक नामक घोड़े को महाराणा प्रताप ने अपने भाई शक्तिसिंह को भेंट कर दिया जबकि सबसे सुन्दर और बलशाली चेतक घोड़े को महाराणा प्रताप ने स्वयं के पास रखा. चेतक की वजह से ही महाराणा प्रताप घायल होने के बाद भी युद्ध भूमि से सुरक्षित बाहर निकलने में कामयाब रहे थे. दोस्तों अब आप जान चुके हैं कि महाराणा प्रताप के पास कितने घोड़े थे.

यह भी पढ़ें-