“मेरी जगह रिजवी को भेजो” आखिर धोनी ने ऐसा क्यों किया?

महेंद्र सिंह धोनी भारत के सबसे महान खिलाडियों में से एक है । धोनी ने हाल ही में लिए अपने एक निर्णय से पहले ही सभी को चौका दिया है। वो निर्णय था CSK की कप्तानी को छोड़ना और वो भी मैच के एक दिन पहले।

दर असल हुआ यू था की इधर IPL २०२५ का आगाज था और पहला मैच CSK और RCB के मध्य था । सभी भारतियो को अपेक्षा थी कि बहुत समय बाद लगभग 1 वर्ष बाद वापिस धोनी को कप्तानी करते हूए देखेंगे लेकिन IPL के प्रथम मैच से ठिक एक दिन पहले धोनी ने ये ऐलान कर दिया की अब वो CSK की कप्तानी नहीं करेंगे और ये काम अब से ऋतुराज करेंगे।

धोनी का बड़ा फैसला

हुआ यू कि csk का दूसरा मैच गुजरात टाइटन के साथ था । मैच शुरू से ही CSK ने अपनी पकड़ में रखा और शुरुआती बल्ले बाजो ने 10 ओवर तक स्कोर लगभग 100 रन तक पहुंचा दिया ।

ऋतुराज ने 46 और रचिन रविन्द्र ने 46 रन के साथ बहुत ही शनदार शुरुवात की। उसके बाद जब शिवम दूबे आए तो उन्होंने 23 गेंद पर 51 रन बनाए ।

लेकिन जब 18.2 ओवर में शिवम का विकेट उड़ा तो मैदान पर बहुत ज्यादा शोर मचने लग गया था क्योंकि सभी को पता था कि अब धोनी आने वाले है लेकिन धोनी ने जड़ेजा को बुला कर यह कहाँ कि “मैरी जगह अब रीजवी जाएंगे “

धोनी का ये फैसला वास्तव में चोकाने वाला था। लेकिन रिजवी ने भी धोनी द्वारा किए विश्वास को खाली नहीं जाने दिया और मैदान पर आते ही राशिद खान कि पहली ही गेंद पर 6 लगा कर उन्होंने अपने अंदर हूनर होने का प्रमाण दिया।