Good News: Post Office Senior Citizen Saving Scheme In Hindi.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस (post office senior citizen saving scheme ) की बात करें तो यह स्कीम बैंक के मुकाबले ज्यादा रिटर्न देती हैं. साथ ही Invest की गई Money की सेफ्टी की भी पूरी गारंटी “सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम” में मिल जाती हैं. इस योजना में निवेश करने वालों को इस योजना के तहत टैक्स बेनिफिट भी मिल जाता हैं. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में 8.20% की दर से वार्षिक ब्याज भी मिलता है.

रिटायरमेंट के बाद पैसों की कमी ना हो इसके लिए व्यक्ती कई तरह के इन्वेस्टमेंट प्लान बनाता है इसी दिशा में पोस्ट ऑफिस ने एक स्कीम निकाली जिसके तहत एक अच्छा रिटर्न मिले और भविष्य सुरक्षित रहें. इस स्कीम का नाम है “सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम”.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस में कौन आवेदन कर सकता हैं? इस स्कीम में ब्याज कितना मिलेगा और साथ ही आप पढ़ेंगे कि आपके अकाउंट के प्रीमेच्योर और क्लोजर से संबंधित नियम क्या है? इस सब प्रश्नों का जवाब आपको इस लेख में मिलेगा, इसे अंत तक पढ़े.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस में कौन आवेदन कर सकता हैं? (post office senior citizen saving scheme eligibility criteria)

इस स्कीम में customer को बैंक से ज्यादा Return मिलता है. भारतीय पोस्ट ऑफिस द्वारा निकाली गई सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में PF के बाद सबसे ज्यादा ब्याज मिलता है. शुरु में इसमें 5 वर्ष के लिए निवेश कर सकते हैं साथ ही मेच्योरिटी के बाद भी आप इसे आगामी 3 वर्षों तक बढ़ा सकते हैं.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस (senior citizen saving scheme post office) में आवेदन करने के लिए पात्रता निम्नलिखित हैं-

1 जिनकी उम्र/आयु 60 वर्ष या इससे अधिक है सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में आवेदन के लिए पात्र हैं.

2 रिटायर्ड सिविलियन employee’s की दशा में 55 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु के सीनियर सिटीजन (VRS लेने वाले) इस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में अपना अकाउंट खुलवा सकते हैं. इसमें मुख्य ध्यान देने योग्य बात यह है कि retired होने के एक माह के भीतर ही आपको अकाउंट खोलना होगा.

3 Retired defense employee’s 50 वर्ष से अधिक और 60 वर्ष से कम आयु वाले खाता खोल सकते हैं.

4 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत सिंगल या जीवनसाथी के साथ ज्वाइंट खाता खुलवा सकते हैं.

5 senior citizen saving scheme में जमा की गई राशि “प्राथमिक खाता धारक” (Primary Account Holder) को ही दी जाती हैं.

6 HUF और NRI इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में आवेदन/खाता खुलवाने की प्रक्रिया

अगर आप पोस्ट ऑफिस की इस योजना (सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम) में अपना खाता खुलवाना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी किसी भी पोस्ट ऑफिस में जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

1 आवेदन फॉर्म (ब्रांच से मिलेगा).

2 आधार कार्ड और पैन कार्ड (एज प्रूफ और एड्रेस प्रूफ).

3 दो पासपोर्ट साइज़ फ़ोटो.

आवेदन फॉर्म को भरकर KYC डॉक्युमेंट्स के साथ आप इसे ब्रांच में जमा करवा सकते हैं. इसके अलावा बैंक में भी इस स्कीम के तहत खाता खुलवा सकते हैं जिससे कि ब्याज सीधा बचत खाते में जमा हो जाता हैं और ई- बैंकिंग से स्टेटमेंट और account की जानकारी अपने मोबाइल में कभी भी प्राप्त कर सकते हैं.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (senior citizen saving scheme) ध्यान रखने योग्य बातें

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस (senior citizen saving scheme Post office) में निवेश करने से पहले निम्न बातों की जानकारी होना आवश्यक है –

1 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में कम से कम ₹1000 का निवेश किया जा सकता हैं जिसे आप एक हज़ार के मल्टीपल में अधिकतम ₹1500000 तक जमा करा सकते हैं.

2 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में यदि कोई खाताधारक लिमिट से ज्यादा पैसा जमा करवाता है तो तत्काल यह पैसा उसके खाते में रिफंड हो जाता है.

3 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में किए गए निवेश पर इनकम टैक्स एक्ट 1961 की धारा 80C में छूट मिलती हैं.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत देय ब्याज

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत निवेशकों को देय ब्याज के नियम इस तरह हैं

1 खाताधारकों को तिमाही आधार पर ब्याज मिलता है.

2 खाताधारक द्वारा यदि इस ब्याज पर दावा (Claim) नहीं किया जाता हैं तो अर्जित किए गए ब्याज पर कोई अतिरिक्त ब्याज नहीं मिलेगा.

3 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत किसी वित्तीय वर्ष में कुल अर्जित ब्याज ₹50000 से अधिक है तो इस पर नियमानुसार टैक्स देना होगा.

4 फॉर्म 15G और 15H जमा करवाने एवम ब्याज की अर्जित राशि ₹50000 से कम होने पर TDS नहीं काटा जाएगा.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम खाता बंद करवाने हेतु प्रावधान

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के Premature Closer से सम्बन्धित मुख्य प्रावधान

1 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में खाताधारक कभी भी अपना खाता बंद करवा सकता हैं.

2 यदि खाताधारक 1 वर्ष पूर्ण होने से पहले खाता बंद करवाता है तो इस अवधि में अर्जित किया गया ब्याज मूल राशि से काट लिया जाएगा.

3 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत खाताधारक 1 वर्ष पूर्ण होने के बाद लेकिन 2 वर्ष पूर्ण होने से पहले खाता बंद करवाता है तो मूल राशि का 1.5% प्रतिशत चार्ज काटा जाएगा.

4 खाताधारक 2 वर्ष पूर्ण होने के बाद तथा 5 वर्ष पूर्ण होने से पहले खाता बंद करवाता है तो मूल राशि का 1% चार्ज काटा जाएगा.

5 एक्सटेंडेड अकाउंट एक्सटेंशन तिथि के 1 वर्ष पश्चात बंद किया जा सकता हैं. इस स्थिति में किसी भी तरह का चार्ज नहीं काटा जाएगा.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत खाता विस्तार से जुड़े नियम

1 सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम के तहत खाताधारक एक फॉर्म और पासबुक को जमा करवाकर आगामी 3 वर्षों के लिए खाते का विस्तार (account extension) कर सकता है.

2 इस स्कीम के तहत खाता में चोर होने के 1 वर्ष के भीतर खाते को एक्सटेंड किया जा सकता है.

3 एक्सटेंड किए गए अकाउंट पर मेच्योरिटी के समय जो ब्याज दर थी, उसी हिसाब से ब्याज मिलेगा.

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश करने के लाभ

बिना फायदे के कोई भी व्यक्ति किसी भी स्कीम में पैसा निवेश नहीं करता है. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश करने के कई लाभ (Benifits) है जो निम्नलिखित हैं

1 उच्च ब्याज दर

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में 8.20% की दर से ब्याज मिलता है जो कि पीएफ के बाद सबसे अधिक है. बचत खाता और FD के मुकाबले इसमें बहुत अच्छा रिटर्न मिलता है.

2 रिटर्न की गारंटी

SCSS योजना में रिटर्न की गारंटी है. यह योजना सरकार द्धारा समर्थित है. साथ ही यह बाजार जोखिम के अंतर्गत नहीं आता है. 

3 टैक्स में छूट

आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80 सी के तहत आप सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश कर प्रतिवर्ष डेढ़ लाख रुपए तक छूट प्राप्त कर सकते हैं.

4 आसान निवेश

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में निवेश बहुत आसान है क्योंकि आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जाकर या किसी भी अधिकृत बैंक में जाकर खाता खुलवा सकते हैं और आसानी के साथ निवेश कर सकते हैं.

5 तीन माही ब्याज

post office senior citizen saving scheme में त्रैमासिक आधार पर ब्याज दिया जाता है. यह ब्याज अप्रैल, जुलाई, अक्टूबर और जनवरी के प्रथम दिन ब्याज खाते में जमा हो जाता हैं.

सारांश

सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम पोस्ट ऑफिस (post office senior citizen saving scheme ) की बात करें तो यह स्कीम बैंक के मुकाबले ज्यादा रिटर्न देती हैं. साथ ही Invest की गई Money की सेफ्टी की भी पूरी गारंटी “सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम” में मिल जाती हैं. इस योजना में निवेश करने वालों को इस योजना के तहत टैक्स बेनिफिट भी मिल जाता हैं. सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम में 7.40% की दर से वार्षिक ब्याज भी मिलता है.

उम्मीद करते हैं post office senior citizen saving scheme पर आधारित यह लेख आपको अच्छा लगा होगा,धन्यवाद।

यह भी पढ़ें-

ऑनलाइन जॉब कार्ड कैसे देखें?
क्रेडिट कार्ड के नुकसान जो बैंक नहीं बताएगा।