राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास।

Spread the love

राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास बहुत पुराना है। इस श्रेणी में मौर्य वंश के शासक राजा बिंदुसार, चंद्रगुप्त मौर्य और बप्पा रावल जैसे वीरों के साथ-साथ राजा छत्रसाल का नाम भी आता है, जिन्होंने मुस्लिम युवतियों या राजकुमारियों से विवाह किया था।

जब भी प्राचीन समय के राजा महाराजाओं की बात की जाती है या उनके प्रेम विवाह का जिक्र किया जाता है, तो सिर्फ लोगों के दिमाग में एक ही नाम आता है और वह है जोधा-अकबर। इसकी मुख्य वजह यह है कि हमारे देश के इतिहासकारों ने हमें सिर्फ इन्हीं के बारे में बताया है बाकी हिंदू समाज या संस्कृति से संबंध रखने वाले राजाओं का जिक्र नहीं किया।

इस लेख के माध्यम से राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास जानेंगे।

राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास।

राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास और प्रसिद्ध विवाह –

भारतीय संस्कृति और इतिहास से छेड़छाड़ का सबसे बड़ा उदाहरण है जोधा अकबर की प्रेम कहानी। इतिहासकारों का काम सही इतिहास की जानकारी देना है ना कि सिर्फ हिंदू महिलाओं के मुस्लिमों के साथ संबंध दिखाकर और झूठा इतिहास गढ़ कर वाहवाही लूटना।

कुंठित मानसिकता के इतिहासकारों ने हमें सिर्फ वही इतिहास बताया जो वह बताना चाहते थे क्योंकि उनका मन मेमैला था।

1 बप्पा रावल-गजनी के मुस्लिम शासक की बेटी- सबसे पहले हम बात करेंगे चित्तौड़गढ़ के महान शासक बप्पा रावल की जिन्हें काल भोज के नाम से भी जाना जाता है और उन्हें “फादर ऑफ रावलपिंडी” की उपाधि भी दी गई है। काल भोज ने 30 से अधिक मुस्लिम राजकुमारियों से विवाह किया था, जिनमें गजनी के मुस्लिम शासक की बेटी भी शामिल है। लेकिन हमारे देश के इतिहासकारों ने इस संबंध में जानकारी को छिपाए रखा।

2 महाराजा छत्रसाल-रूहानी बाई- राजा छत्रसाल को कौन नहीं जानता उनका विवाह भी मुस्लिम युवती के साथ हुआ था जो कि हैदराबाद के निजाम की पुत्री थी और नाम था रूहानी बाई। रूहानी बाई और राजा छत्रसाल ने एक बेटी को जन्म दिया जिसका नाम था मस्तानी, आगे चलकर मस्तानी ने भी मराठा शासक बाजीराव प्रथम से प्रेम विवाह किया था। हालांकि बाजीराव प्रथम का यह द्वितीय विवाह था।

3 महाराणा अमरसिंह जी- शहजादी खानुम- भारत के पुत्र वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप ने हल्दीघाटी के युद्ध में अकबर की मुगल सेना को बुरी तरह पराजित कर दिया। इसके बाद उनका पुत्र महाराणा अमर सिंह मेवाड़ के शासक बने और उन्होंने अकबर की बेटी शहजादी खानुम के साथ विवाह किया, लेकिन इतिहासकारों ने इस विवाह का जिक्र कभी नहीं किया।

4 राणा सांगा-मेरूनीसा- मेवाड़ के महान शासकों में शामिल और शरीर पर 80 घाव लगने के बाद भी दुश्मनों को नानी याद दिलाने वाले मेवाड़ी महान सम्राट महाराणा सांगा ने 4 मुस्लिम लड़कियों से विवाह किया था, जिनमें “मुस्लिम सेनापति के बेटी मेरुनिसा” का नाम शामिल है।

5 विक्रमजीत सिंह-आजमगढ़ की मुस्लिम लड़की- अपने समय के महानतम राजाओं में शामिल विक्रमजीत सिंह गौतम का आजमगढ़ की मुस्लिम लड़की से विवाह को इतिहासकार लिखने से परहेज करते आए हैं।

6 राजा हनुमंत सिंह-जुबेदा- जोधपुर के राजा हनुमंत सिंह और मुस्लिम लड़की जुबेदा का विवाह जगजाहिर है लेकिन इतिहासकारों ने इस विवाह को हमेशा ही गुप्त रखा।

7 कुंवर जगत सिंह-मरियम- इसके अलावा उड़ीसा के नवाब कुतुल खा की बेटी मरियम और कुंवर जगत सिंह का विवाह, मेवाड़ के शासक महाराणा कुंभा और जागीरदार वजीर खान की बेटी का विवाह, मौर्य वंश के संस्थापक चंद्रगुप्त मौर्य और सिकंदर के सेनापति सेल्यूकस की बेटी हैलेना का विवाह, राजा मानसिंह और मुबारक का विवाह, अमरकोट सम्राट वीरसाल और हमीदा बानो का विवाह, मौर्य शासक राजा बिंदुसार और अमीर खुरासन की बेटी नूर खुरासन का विवाह इतिहास के पन्नों से गायब हैं।

उपरोक्त वर्णित राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास हमारे देश के कुंठित मानसिकता वाले और कम्युनिस्ट इतिहासकारों ने देश की जनता को हमेशा ही धोखे में रखा।

यह हमारा सौभाग्य है कि इस लेख में वर्णन किए गए उपरोक्त वैवाहिक संबंधों के बारे में जानकारी मिल सकती है। यह जानकारी उन सभी इतिहासकारों के मुंह पर तमाचा है जो रात दिन जोधा अकबर की मनगढ़ंत कहानी का बखान करते रहते हैं। मगर हमारे देश के महान राजाओं और शासकों जिन्होंने देश की संस्कृति और इतिहास को बचाए रखा उनके ही इतिहास को इन्होंने गायब कर दिया।

यह भी पढ़ें-

1 बाजीराव-मस्तानी- अजब प्रेम की गजब कहानी।

2. पृथ्वीराज चौहान की प्रेम कहानी।

3. सम्राट अशोक महान की प्रेम कहानी।

तो दोस्तों राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास पर आधारित यह आलेख आपको कैसा लगा कमेंट करके अपनी राय जरूर दें साथ ही यह जानकारी अपने मित्रों के साथ शेयर करें, धन्यवाद।


Spread the love

4 thoughts on “राजपूत राजाओं और मुस्लिम राजकुमारियों के वैवाहिक संबंधों का इतिहास।”

  1. Pingback: हाइफा का युद्ध (Haifa war)- इजराइल को किसने आजाद कराया था? - History in Hindi

  2. मनोज कुमार शर्मा

    इस ऐतिहासिक जानकारी का संदर्भ भी बताएं, ताकि प्रामाणिकता में कोई संदेह ना रहे।

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *