Rishi Sunak jivani

ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani).

Spread the love

ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani) :- ऋषि सुनक के माता-पिता भारतीय मूल के हैं. इनके पिता का नाम यशवीर और माता का नाम उषा है जो मूल रूप से पंजाब के रहने वाले हैं. ऋषि सुनक का जन्म 12 मई 1980 को साउथहैंपटन, हैंपशायर इंग्लैंड (Southampton England) में हुआ था. ऋषि सुनक एक राजनेता हैं, जिनका विवाह इंफोसिस कंपनी के सह संस्थापक एन. आर. नारायण मूर्ति की बेटी के साथ हुआ था.

ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani) की बात की जाए तो इनका जीवन बहुत ही साधारण रहा हैं. इनके माता-पिता चिकित्सक हैं, जिनमें माता फार्मासिस्ट और पिता सामान्य चिकित्सक हैं. माता पिता भारतीय होने के कारण ऋषि सुनक का भारत से विशेष जुड़ाव रहा है.

ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani)

ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jeevani) के बारे में विस्तृत रूप से चर्चा करने से पहले इनके जीवन से संबंधित मुख्य पहलू को संक्षिप्त रूप में जान लेते हैं-

नामऋषि सुनक ( Riahi sunak)
जन्म तिथि12 मई 1980
जन्म स्थानसाउथहैंपटन, हैंपशायर (इंग्लैंड)
पिता का नामयशवीर जी
माता का नामउषा जी
पत्नी का नामअक्षता सुनक
बच्चे-2 लड़किया
भाई का नामसंजय सुनक
बहिन का नामराखी सुनक
पेशाराजनेता और व्यवसायी
राजनैतिक पार्टीकंजर्वेटिव पार्टी (इंगलैंड)
नागरिकताब्रिटिश
धर्महिंदू सनातन
जातिब्राह्मण
ऋषि सुनक द्वारा लिखित किताबA portrait of modern Britain

ऋषि सुनक भारतीय निवासी नहीं है उनके पूर्वज भारतीय थे. ऋषि सुनक का संबंध हिंदू ब्राह्मण परिवार से है. ब्रिटेन के भावी प्रधानमंत्री के रूप में ऋषि सुनक को देखा जाने लगा है. ऋषि सुनक बचपन से ही पढ़ाई में होशियार थे इनकी प्रारंभिक शिक्षा विंचेस्टर कॉलेज से हुई. जिसे बॉयज बोर्डिंग स्कूल भी कह सकते हैं. इस स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी कर इसी सुन्नत ने लिंकर्स कॉलेज में एडमिशन लिया. वर्ष 2006 में इन्होंने एम.बी.ए. (Stanford Graduate School of Business) की पढ़ाई पूरी की.

Stanford University में पढ़ाई के दौरान इनकी मुलाकात भारत की प्रसिद्ध इंफोसिस कंपनी के सह संस्थापक एन.आर. नारायण मूर्ति की बेटी अक्षिता मूर्ति से हुई. यह मुलाकात पहले दोस्ती में तब्दील हुई और उसके बाद प्रेम में बदल गई जिसके परिणाम स्वरूप वर्ष 2009 में ऋषि सुनक और अक्षिता मूर्ति ने शादी कर ली. ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani) में आगे बात की जाए तो वर्ष 2001 में उन्होंने गोल्डमैन सैक्स नामक अमेरिकी निवेश बैंक में एक विश्लेषक के तौर पर नौकरी की शुरुआत की.

वर्ष 2004 में इन्होंने हेज फंड मैनेजमेंट फर्म द चिल्ड्रन इन्वेस्टमेंट फंड मैनेजमेंट (टी.सी.आई.) के लिए काम करना शुरु किया जो वर्ष 2009 तक जारी रहा. 2009 में इन्होंने थेलेम पार्टनर्स नामक फर्म स्थापित की. वर्ष 2013 में “कैटामारन वेंचर्स यूके लिमिटेड” में निदेशक के रूप में काम किया लेकिन वर्ष 2015 में इन्होंने अपने पद से इस्तीफा दे दिया.

ऋषि सुनक खाली समय में किताबें पढ़ना पसंद करते हैं, इन्हें अर्थशास्त्र और राजनीति का बहुत ज्ञान है. साथ ही इन्हें घूमना भी बहुत पसंद है. अब तक ऋषि सुनक विश्व के कई देशों में घूम चुके हैं. इनके अलावा भी ऋषि सुनने की जीवनी देखी जाए तो इन्हें फोटो खिंचवाने का बहुत शौख है, साथ ही यह घर का काम भी करते हैं. अब तक हमने ऋषि सुनक की जीवनी में उनके व्यक्तिगत जीवन के बारे में पढ़ा. अब आगे उनके राजनैतिक कैरियर की बात करते हैं.

ऋषि सुनक का राजनीतिक कैरियर

ऋषि सुनक के राजनीतिक कैरियर की बात की जाए तो इन्होंने हमेशा तरक्की की है. समय के साथ साथ आगे बढ़ते गए. पार्टी और देश में इनका कद भी बढ़ता गया, इन्हें एक साफ छवि के नेता के रूप में देखा जाता है. एक व्यापारी के रूप में स्वयं को स्थापित कर चुके ऋषि सुनक के राजनैतिक कैरियर की शुरुआत वर्ष 2014 में हुई, जब वह पहली बार ब्रिटेन संसद के सांसद चुने गए. वर्ष 2015 में ऋषि सुनक ने पहली बार रिचमंड से चुनाव लड़ा और एक बड़े अंतर के साथ जीत हासिल की.

सांसद बनने के बाद अपने संसदीय क्षेत्र में कई विकास के कार्यों को करते हुए ऋषि सुनक जल्द ही आम जन में प्रसिद्ध हो गए. वर्ष 2015 से वर्ष 2017 तक इन्होंने सांसद के तौर पर काम किया. इनके कामकाज की बदौलत ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने इन्हें ट्रेजरी का प्रमुख सचिव नियुक्त कर दिया.

वर्ष 2019 में हुए आम चुनाव में इन्होंने फिर सांसद के रूप में चुनाव लड़ा और जीत हासिल करते हुए लगातार दूसरी बार सांसद चुने गए. एक राजनेता के तौर पर अपने आप को लगातार मजबूत करते हुए ऋषि सुनक 2020 में ब्रिटेन के फाइनेंस मिनिस्टर (वित्त मंत्री) बने. वित्त मंत्री के रूप में कार्य करते हुए ऋषि सुनक ने मौके को भुनाया. वर्ष 2020 में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी के बाद इन्होंने जो कार्य किया उसने इन्हें ना सिर्फ ब्रिटेन में बल्कि संपूर्ण विश्व में पहचान दिलाई.

कोविड-19 के दौर में ऋषि सुनक ने जनहित में कई बेहतरीन घोषणा की थी, जिससे देशभर में इनके काम को बहुत सराहा गया. वर्ष 2021 में इन्होंने बजट पेश किया था.

ऋषि सुनक इतने प्रसिद्ध क्यों हुए?

आजकल समाचार पत्रों और टीवी चैनलों पर ऋषि सुनक का नाम बहुत सुनने को मिलता है. इनकी इस प्रसिद्धि का मुख्य कारण ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के इस्तीफा देने के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री के रूप में ऋषि सुनक का नाम सबसे आगे चलना है. इसलिए हर कोई ऋषि सुनक के बारे में जानने को आतुर है. इस लेख के माध्यम से हमने कोशिश की है कि ऋषि सुनक की जीवनी स्पष्ट रूप से आप तक पहुंचा सकें.

ऋषि सुनक की संपत्ति (Rishi sunak net worth)

वर्तमान में ऋषि सुनक की नेटवर्क 3.1 बिलियन पाउंड है. इनके व्यवसाय को इसकी पत्नी संभालती है उनके बारे में कहा जाता है कि ब्रिटेन की महारानी से भी अधिक इनकी संपत्ति है.

यह भी पढ़ें-

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय.

श्रील प्रभुपाद का जीवन परिचय.

पुष्यभूति वंश का इतिहास

दोस्तों उम्मीद करते हैं “ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani)” पर आधारित यह लेख आपको अच्छा लगा होगा, धन्यवाद.


Spread the love

1 thought on “ऋषि सुनक की जीवनी (Rishi Sunak jivani).”

  1. Pingback: द्रौपदी मुर्मू जीवनी (Draupadi murmu jivani) और 13 रोचक तथ्य। - History in Hindi

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *