जगन्नाथ मंदिर के बारे में 10 पंक्तियां (10 Lines About Jagannath Temple)

10 Lines About Jagannath Temple In Hindi.

जगन्नाथ मंदिर के बारे में 10 पंक्तियां (10 Lines About Jagannath Temple)– जगन्नाथ मंदिर भगवान श्रीकृष्ण का मंदिर हैं पूरी में स्थित हैं. यह वैष्णव सम्प्रदाय का मंदिर हैं जो भगवान विष्णु के 8वें अवतार श्रीकृष्ण को समर्पित एक बहुत ही भव्य मंदिर हैं. यह उड़ीसा के पूरी में स्थित हैं. जगन्नाथ का मतलब हैं … Read more

सेंगोल का इतिहास और 7 प्रमाण.

सेंगोल राजदंड का इतिहास

सेंगोल एक तरह का राजदंड हैं, जो सत्ता हस्तांतरण के समय दिया जाता हैं. सेंगोल को समृद्धि का प्रतीक माना जाता हैं. इसका इतिहास और कहानी मौर्य साम्राज्य के समय से देखने को मिलती हैं लेकिन इसका प्रचलन चोल साम्राज्य में ज्यादा था. ऐसा कहा जाता हैं कि जिसे भी यह राजदंड मिलता हैं वह … Read more

मणिपुर का इतिहास (History Of Manipur)

History of manipur in hindi

History Of Manipur In Hindi:- मणिपुर का इतिहास (History Of Manipur In Hindi) बहुत गौरवपूर्ण रहा हैं, इस राज्य ने प्राचीनकाल से लेकर आज तक अपनी सांस्कृतिक विरासत को बचा कर रखा हैं. मणिपुर एक पूर्वी राज्य हैं जो भारत के नार्थ-ईस्ट में स्थित हैं. यह राज्य अपनी सांस्कृतिक और ऐतिहासिक महत्ता के लिए विश्विख्यात … Read more

राजा दशरथ की कहानी कथा और जीवन परिचय

राजा दशरथ की कहानी

राजा दशरथ की कहानी, कथा, जीवन परिचय- राजा दशरथ की कहानी (Raja Dashrath Story In Hindi) की शुरुआत अयोध्या से होती हैं. इक्ष्वाकु वंश में जन्म लेने वाले राजा दशरथ प्रजाप्रिय,न्यायप्रिय और अपने वचनों के प्रति पूर्ण रूप से समर्पित थे. राजा दशरथ की कथा के अनुसार वो एक आदर्श महाराजा और पुत्रों को अतिप्रेम … Read more

एक श्लोकी रामायण- 1 मंत्र में छिपा हैं रामायण का सार.

एक श्लोकी रामायण

एक श्लोकी रामायण को सारगर्भित रामायण भी कहा जा सकता हैं. अर्थात यह रामायण का सार हैं.  रामायण का पाठ करना बहुत जरुरी हैं क्योंकि इससे नकारात्मकता तो दूर होती ही हैं साथ ही हमारा आत्मविश्वास भी बढ़ता हैं. आजकल की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में लोगों के पास समय का अभाव हैं. ऐसे में रामायण का … Read more

रावल खुमाण द्वितीय का इतिहास जीवन परिचय

रावल खुमाण द्वितीय का इतिहास जीवन परिचय।

रावल खुमाण द्वितीय का इतिहास (Rawal Khuman 2 History In Hindi)- रावल खुमाण एक ऐसे वीर योद्धा थे जिन्होंने भारत के राजाओं को अरबों के खिलाफ एकछत्र के निचे लाकर खड़ा कर दिया. रावल खुमाण बप्पा रावल के वंशज थे. इन्होंने सम्पूर्ण भारत के लगभग 1200 राजाओं को अरबी आक्रांताओं से लड़ने के लिए बुलाया … Read more

राणा पूंजा भील थे या राजपूत?

राणा पूंजा भील थे या राजपूत

राणा पूंजा भील थे या राजपूत- राणा पूंजा को लेकर एक नया विवाद पिछले कुछ समय से शुरु हुआ है कि राणा पूंजा भील थे या राजपूत? राणा पूंजा महाराणा प्रताप के मुंह बोले भाई थे, जिन्होंने 18 जून 1576 ईस्वी में हुए हल्दीघाटी के युद्ध में दुश्मनों के दांत खट्टे कर दिए थे. इतना … Read more

भारत का पहला प्राचीन नाम क्या था?

भारत का पहला प्राचीन नाम क्या था?

भारत का पहला प्राचीन नाम:- भारत को प्राचीनकाल से ही अलग-अलग नामों से जाना जाता हैं जिनमें जम्बूद्वीप, भारतवर्ष, भारतखण्ड, अजनाभवर्ष, सिन्दूस्तान, हिन्दू, आर्यावर्त, इंडिया और ब्रह्मवर्त आदि नामों से जाना जाता हैं. लेकिन अभी भी यह शंसय का विषय हैं कि आखिर भारत का पहला प्राचीन नाम क्या था? इस लेख में हम तार्किक … Read more

भारत को जम्बूद्वीप क्यों कहा जाता हैं?

भारत को जम्बूद्वीप क्यों कहा जाता हैं?

भारत को जम्बूद्वीप के नाम से भी जाना जाता हैं लेकिन कई लोगों  को अब तक यह जानकारी नहीं हैं कि आखिर “भारत को जम्बूद्वीप क्यों कहा जाता हैं”. संस्कृत भाषा में जम्बूद्वीप का मतलब है जहां “जंबू के पेड़” उगते हैं। प्राचीन समय में भारत में रहने वाले लोगों को जम्बूद्वीपवासी कहा जाता था.  जम्बूद्वीप शब्द का … Read more

महाराणा प्रताप की कितनी पत्नियाँ थी? ऐसा था पूरा परिवार.

महाराणा प्रताप की कितनी पत्नियां थी?

क्या आप जानते हैं कि महाराणा प्रताप की कितनी पत्नियाँ थी? अधिकतर लोग महाराणा प्रताप की पत्नी महारानी अजबदे पंवार के बारे में ही जानते हैं लेकिन आपको बता दें कि महाराणा प्रताप की कुल 14 पत्नियाँ थी. इस लेख में आगे आपको महाराणा प्रताप की सभी पत्नियों के नाम के साथ-साथ उनके पुरे परिवार … Read more